unknown facts about aeroplanes in hindi

0
39

नमस्कार दोस्तों CREATE DAIRY में आप सभी का बहुत-बहुत स्वागत है। आज की इस पोस्ट में हमलोग जानेगे हवाई जहाज के बारे में कुछ रोचक तथ्य तो चलिए शुरू करते है

  • Aeroplane को इस तरह डिजाइन किया जाता है कि इनपर आसमानी बिजली गिरने का भी असर नहीं होता।
  • साल में एक बार हर हवाई जहाज पर आसमानी बिजली जरूर गिरती है लेकिन 1963 के बाद से जहाजों पर बिजली गिरने से एक भी हादसा नहीं हुआ है।
  • प्लेन की खिड़की के शीशों में एक बहुत छोटा छेद होता है, दरअसल ये छेद प्लेन में प्रेशर को maintain करता है।
  • प्लेन में दो इंजन होते हैं लेकिन प्लेन एक इंजन पर भी आराम से चल सकता है।
  • कुछ हवाई जहाजों में सीक्रेट बेडरूम भी होते हैं जहाँ प्लेन के कर्मचारी आराम कर सकते हैं।
  • हवाई जहाज के टायर बदलने के लिए भी जैक का ही इस्तेमाल किया जाता है, ठीक वैसे ही जैसे कार का टायर बदला जाता है।
  • हर प्लेन में यात्रियों के लिए ऑक्सीजन मास्क होते हैं लेकिन कोई ये नहीं जानता कि ऑक्सीजन मास्क में केवल 15 मिनट लायक ही ऑक्सीजन होती है।
  • प्लेन के बाथरूम में ashtrays यानि राख भी रखी होती है ताकि अगर कोई सिगरेट जलाता है तो उसे बुझाई जा सके| प्लेन में स्मोकिंग allow नहीं है।
  • आसमान में प्लेन के पीछे सफ़ेद धुआँ सा दिखाई देता है वो दरअसल प्लेन के इंजन द्वारा छोड़ी गयी जलवाष्प (भाप) होती है।
  • लंबे समय तक चलने वाली उड़ानों के दौरान केबिन क्रू को किसी-न-किसी समय पर ब्रेक लेना पड़ता है और हवाई जहाज में उनके आराम के लिए छोटे-छोटे कमरे बने होते हैं. अधिकांश बोइंग 777 और 787 विमानों में इस तरह की सुविधा होती है. केबिन क्रू टेकऑफ या लैंडिंग के दौरान इन कमरों का उपयोग नहीं करते हैं, लेकिन जब हवाई जहाज ऊंचाई पर रहता है तो वे इसका उपयोग करते हैं. यात्रियों के लिए इन कमरों में जाना प्रतिबंधित होता है
  • हवाई जहाज में पीछे की बीचों बीच वाली सीट सबसे ज्यादा सुरक्षित होती है यानि प्लेन हादसे के दौरान केवल यही सीट सबसे ज्यादा सेफ होती है।
  • ज्यादातर लोगों को शिकायत होती है कि प्लेन में खाना बहुत गन्दा होता है लेकिन इसमें प्लेन फ़ूड की कोई गलती नहीं है| दरअसल ऊँचाई पर जाकर वातावरण बदल जाता है| वहाँ मीठी चीज़ें भी कम मीठी लगती है और नमकीन चीज़ें कड़वी जैसे लगने लगती हैं।
  • रात में प्लेन लैंडिंग के दौरान प्लेन के अंदर की लाइट डिम कर दी जाती है ताकि प्लेन से उतरने के बाद यात्रियों की आखों पर जोर ना पड़े।
  • प्लेन का सबसे खतरनाक एक्सीडेंट 1977 में हुआ था| जब दो फुल भरे प्लेन जिनमें 600 यात्री सवार थे, जो आमने सामने रनवे पर एक दूसरे से टकरा गये थे और 500 लोगों की मौत हो गयी।
  • कुछ लोग मानते हैं कि हर हवाई उड़ान के बाद हवाई जहाज (Air Plane) के टायर बदले जाते हैं लेकिन ऐसा नहीं है| हवाई जहाज के टायर 38 टन वजन तक सह सकते हैं और 170 मील प्रति घंटा की रफ़्तार से जमीन पर भी उतर सकते हैं| सैकड़ों उड़ान भरने के बाद अगर टायर खराब होते हैं तभी बदले जाते हैं।
  • राइट ब्रदर्स ने 1903 में पहला हवाई जहाज बनाया था जो 120 फिट की ऊँचाई तक ही उड़ पाया था।

इसी तरह का जानकारी पढ़ने के लिए आप CreateDairy.com पे बने रहे अगर आपको हमारे पोस्ट की नोटिफेक्शन चाहिए तो निचे आपने ईमेल डाल के CreateDairy.com को फॉलो करे धन्यवाद !

इसी तरह का पोस्ट आपके लिए लिखता रहूंगा तो दोस्तों इसी तरह प्यार बनाए रखें सपोर्ट करते रहे हमारा तभी हम आपको जो है नए-नए इंफॉर्मेशन देते रहेंगे अपना कीमती समय को निकालकर पोस्ट को पढ़ने के लिए बहुत-बहुत दिल से धन्यवाद

अगर आपको पोस्ट पढ़ना है तो आपको जीना होगा अगर आपको जीना है तो आपको शुद्ध हवा यानी कि ऑक्सीजन को अपने अंदर लेना होगा ऑक्सीजन लेने के लिए आपको पेड़ लगाने होंगे क्योंकि आप खुद देख रहे हो दिन पर दिन पेड़ काटे जा रहे हैं जिसके कारण हमे शुद्ध ऑक्सीजन नही मिल पा रही है अगर आपको जीना है तो इस पोस्ट पढने के बाद आप हर साल एक पेड लगायेंगे अभी से संकल्प लीजिये जय हिन्द

Previous articleSabse sasta petrol aur sabse manhngaa petrol kin kin desho me milte hai
Next articleBenefits of mustard oil in hindi
नमस्कार दोस्तों, आप सभी का बहुत-बहुत स्वागत है. मै शेखर शर्मा इस ब्लॉग का फाउंडर हूँ. वैसे मै अभी इंजीनियरिंग का कोर्स कर रहा हूँ. ब्लोगिंग करना मेरा पैशन है और मुझे लोगों को हेल्प करने में अच्छा लगता है. मुझे नई-नई चीजें सीखना और लोगों को सिखाने का बहुत शौख है....धन्यवाद....

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here