Tumhaare Saath Hansh Ke Akele Mera Dil Rota Hai Heart touching Poetry Of Shekhar Sharma

नमस्कार दोस्तों CREATE DAIRY में आप सभी का बहुत-बहुत स्वागत है. मेरा नाम है शेखर और मै आपलोगों के लिए इस वेबसाइट पर poetry, poems, quots, लिखते रहता हूँ. मुझे उमीद है आपको मेरी रचना आपको जरूर पसंद आती होगी. मेरे लिखे गये पंक्तिया अगर आपको अच्छी लगती है. तो आप मुझे निचे कमेंट बॉक्स में जरुर बताएं धन्यवाद.

 

कौन किसे दिल में जगह देता है

पेड़ भी अपने सूखे पते गिरा देता है

वाकिफ है हम दुनिया के रस्मे रिवान्जों से

जब दिल भर जाये तो हर कोई भुला देता है

 

जाने दुनिया में ऐसा क्यू होता है

जो सबको ख़ुशी दे वही क्यू रोता है

उम्र भर जो साथ दे न सके

वही पहला प्यार क्यू होता है

 

हमने तो अपनी सारी ख़ुशी लुटा दी थी उसके प्यार में

और वो कहती है इस तरह प्यार नही होता है

बदलते लोग, बदलते रिश्तें, और बदलता मौसम

चाहे दिखाई न दे मगर महसूस जरूर होता है

 

एक दिमाग वाला दिल मुझे भी दे दे ऐ खुदा

ये दिल वाला दिल सिर्फ तकलीफ देता है

 

तुम्हारे साथ हँस कर अकेले मेरा दिल रोता है

चाहे तुम कितने भी तकलीफ देदो फिर भी

शुकून तुम्हारे पास ही मिलता है

 

अजीब बेताबी है तुम्हारे बिन रह भी लेते है

और रहा भी नही जाता है

जब भी तुम रोती हो एहसास मुझे होता है

जब तुम्हे चोट लगती है तो दर्द मुझे होता है

जब से रूठी हो तुम मुझसे

तुम्हे क्या पता ये पगला कैसे सोता है

नींद से क्या सिकवा करे

कसूर तो उस चेहरे का है जो सोने नही देता है

लोग मुझसे पूछते है हमेशा उछलने कूदने वाला

अब चुप क्यू रहता है

अब उन्हें कैसे बताये

दर्द जब हद से गुजर जाता है तो इंसान खमोश हो जाता है

ये मेरा दिल से तुम्हारी यादें क्यू नही जाती इसे किसने रोका है

 

मेरे सीने में एक दिल है उस दिल की धडकन थी तुम

लेकिन अब जन्हा दिल था वंहा दर्द होता है

मै तो तुम्हे गुलाब समझा था, लेकिन मै नासमझ नादान था

मुझे इतना भी नही पता की गुलाब में कांटें होते है

चलो मैंने तो तुम्हे माफ़ किया

लेकिन किसी और के साथ कभी ऐसा मत करना

क्यूंकि हर लड़का शेखर नही होता है

सारी दुनिया के रूठ जाने से मुझे कोई दुख नही

बस एक तेरा खमोश रहना मुझे तकलीफ देता है

सुनो तुम हमेशा खुश रहना

क्यूंकि तुम्हे देख के ही ये पगला जीता है

थैंक्यू

 

Leave a Comment