Aaj Dikhi Hai Wo Kal Baat Bhi Hogi Hindi Poetry of Shekhar Sharma

आज दिखी है वो कल बात भी होगी

हुई है सुबह तो रात भी होगी

हुई है सुबह तो रात भी होगी

आज दिखी है वो कल बात भी होगी

आशमान में बादल घिरे है तो बरसात भी होगी

आज तो वो सिर्फ नजरे मिलाई है

जल्द ही पूरी मुलाक़ात होगी

आज दिखी है वो कल बात भी होगी

तुम प्यार से सिर्फ उसकी नाम पूछना

तुम प्यार से सिर्फ उसकी नाम पूछना

और वो तुम्हे फेसबुक, व्हाटसप्प, इनस्टाग्राम दे देगी

आज दिखी है वो कल बात भी होगी

तुम उसके खातिर जान भी दे दोगे एक बार एहसास दिलाना

तुम उसके खातिर जान भी दे दोगे एक बार एहसास दिलाना

फिर देखना वो अपने दिल भी तुम्हारे नाम कर देगी

आज मिली है वो कल बात भी होगी

थोड़ी ही दिन बाद तुम्हारी शादी होगी

थोड़ी ही दिन बाद तुम्हारी शादी होगी

और शुहागरात भी होगी

आज दिखी है वो कल बात भी होगी

ऐ दोस्त शेखर को मत भूल जाना

ऐ दोस्त शेखर को मत भूल जाना

नही तो वो तेरी भाभी बनेगी

हुई है सुबह तो रात भी होगी,

आज दिखी है वो कल बात भी होगी

Leave a Comment