सचमें जिन्दगी भर साथ निभाओगी Hindi Poetry By Shekhar Sharma

create dairy
create dairy

एक लड़की थी बहुत ही खुबशुरत जितनी वह सुन्दर थी उतनी ही इमनादर ना किसीसे से झूठ बोलना न किसी से फालतू की बातें करना बस अपने काम से मतलब रखना उसी क्लास में एक लड़का पढता था लड़का भी बहुत handsome था लडकी उस लड़के से बहुत प्यार करती थी लेकिन ये बात लड़के को पता नहीं था लड़की हमेशा उस लड़के को बताने की कोशिस करती रहती थी की मै तुमसे प्यार करती हूँ एक दिन बहुत हिम्मत करके उस लड़की ने लड़के को कहा तुम मुझे बहुत अच्छे लगते हो मै तुम्हे अपने जान से भी जयादा चाहती हूँ हां तुमसे प्यार करती हूँ मै प्लीज मान जाओ लड़का थोड़ी देर चुप रहता है और फिर बोलता है मुझे भी तुम बहुत अच्छी लगती हो लेकिन उससे पहले सुन लो जरा तुम्हे कुछ कहना है फिर बताना …सो गाइस आप भी सुनो और बताओ की उस लड़की ने किया जवाब दि होगी

आज कल तो लोग दूर दूर रहकर online प्यार करते है
बिना देखे ही एक दुसरे पे ऐतबार करते है
पर मै ऐसा नही हूँ
जब भी मै तुम्हे अपने पास बुलाऊ तो क्या नजदीक आओगी
सचमें जिन्दगी भर साथ निभाओगी

सुना है प्यार में लोग एक दुसरे को देखे बिना नही रह पाते है
मै भी तुम्हे बिना देखे नही रह पाउँगा
अगर जो कभी मै तुम्हे देखना चाहूं
तो क्या अपने चेहरे का दीदार कराओगी
सचमें जिन्दगी भर साथ निभाओगी

कभी जो मै सर्दियों में तुम्हारी घर आँऊ
तो क्या अपने हाथों से बनाकर
गरमा गर्म कॉफ़ी पिलाओगी
सचमें जिन्दगी भर साथ निभाओगी

प्यार में अक्सर लड़ाई झगड़े होते रहते है
लोग कभी हस्ते तो कभी रोते रहते है
अगर जो कभी मै तुम्हे गुस्से में डांट दू
तो क्या तुम फिर भी मुस्कुराओगी
सचमें जिन्दगी भर साथ निभाओगी

कभी जो हालत ऐसे हो जाए
कोई बात दिल पे लग जाए
अगर में हस्ते हस्ते रोने लग जाऊ
तो क्या तुम गले लगाकर चुप कराओगी
सचमें जिन्दगी भर साथ निभाओगी

लोग तो अपने प्यार के लिए ताजमहल बना दिए
पर मुझसे ना हो पायेगा ये सब
मै औरो की तरह लाखो करोड़ो खर्चा नही कर सकता
तो क्या मेरी १०० २०० से काम चलाओगी
सचमें जिन्दगी भर साथ निभाओगी

अगर जो मै कभी गलत रास्ते पे चलने लंगू
दिन पर दिन बिगड़ने लंगू
तो क्या मेरी माँ की तरह सही रास्ते को दिखाओगी
सचमें जिन्दगी भर साथ निभाओगी

अगर कभी जो मै तुम्हे अपने घर ले जाऊ
और मेरी माँ घर के काम में बिजी हो
तो क्या मेरी माँ की काम में हाथ बटाओगी
सचमें जिन्दगी भर साथ निभाओगी

Leave a Comment