10 aise job jiska future khatre me hai

0
37

10 नौकरियां बता सकते हैं जिनका भविष्य खतरे में हैं ?

आज की इस पोस्ट में मै  लेकर आया १० ऐसे नौकरी जिसका भविष्य खतरे में है तो चलिए शुरू करते है 
ऐसी 10 नौकरियां जिनका भविष्य खतरे में हैं !

1.Bank Job⇨ कितने दिन आपको अपना बैंक विजेट किये हुए हो गया? शायद महीनों या फिर सालों। मोबाइल ऐप्स ने बैंक को आपकी किस्मत में दे दिया है। पैसा भेजना हो, मंगाना हो, चेक बुक आर्डर करना हो, एफडी करानी हो यहां तक ​​कि ऋण के लिए अपलाई करना हो … ये सब चीजें आप अपने मोबाइल पर कर सकते हैं।
यहाँ तक कि अब खाता खोलने और पैसे जमा करने के लिए भी आपको बैंक जाने की ज़रुरत ही नहीं है। खाता मोबाइल पे खुलेआम और पैसे एटीएम में जमा कर दें! ऐसे में भविष्य में बैंकों को एम्प्लाइज की बहुत अधिक ज़रुरत नहीं रहेगी। इसलिए सावधान रहें, अगर आप 20 साल के हैं और बैंकिंग करियर के बारे में सोच रहे हैं।

2.Delivery Boy⇨ वे समय दूर नहीं जब आप अपने ऑनलाइन ऑर्डर के लिए गेट कि बजाय आसमान में देखंगे। ड्रोन से पिज्जा डिलीवरी की खबरें हम पहले ही सुन चुके हैं। अमेज़न ने अपना पहला ड्रोन डिलीवरी दिसंबर 2016 में ही कर ली थी।
भविष्य में डिलीवरी करने का काम ड्रोन्स करेंगे. और ऐसे लाखों लोग जो अभी ये काम कर रहे हैं उनकी जगह कुछ हज़ार ड्रोन ऑपरेटर्स ले लेंगे… और क्या पता इन ऑपरेटरों की भी ज़रुरत ना पड़े.
3.सैनिक⇨ एक ज़माने में जब युद्ध में जीत उसकी होती थी जिसके पास अधिक सैनिक हुआ करते थे … पर अब ऐसा नहीं है और भविष्य की लड़ाइयों के कमरे में बैठ कर लड़ी जा रही हैं।
दोस्तों, प्रौद्योगिकी सबसे पहले सशस्त्र बलों में ही दस्तक देती है। यहाँ तक कि इंटरनेट के आविष्कार का एक बड़ा श्रेय अमेरिकी रक्षा विभाग की फंडिंग को जाता है। और आज ऐसी तमाम शोध चल रही हैं जहाँ युद्ध के मैदानों में सैनिकों की जगह रोबोट लड़ रहे हैं, शायद लोहे के आदमी की तरह, और पायलट्स की जगह सॉफ्टवेयर प्लेन उड़ायेंगे।

4.Factory And  Conturction work⇨ क्या आपने 3D printing machine के बारे में सुना है? ये एक ऐसी मशीन है जो 3 dimensional printing करती है. यानी एक ऐसा प्रिंटर जो पेपर पर cricket bat की तस्वीर नहीं ड्रा करता बल्कि सचमुच का क्रिकेट बैट ही बना कर दे देता है.
Already कई जगहों पर इस तरह के प्रिंटर्स से घर तक बनाये जा चुके हैं. इसके अलावा कई sophisticated मशीनों ने human labour का रोल बहुत कम कर दिया है.
इसे समझना कठिन नहीं है, भारत में भी पहले जब कोई घर बनता था तो उसमे महीनों तक बीसों मजदूर काम करते थे, पर अब Concrete Mixer, lifts और क्रेंस की वजह से कम मजदूर लगते हैं और काम जल्दी हो जाता है. लेकिन फ्यूचर में ऐसा भी हो सकता है कि एक प्रिंटर आपकी जमीन पर आये और कुछ ही घंटों में आपका घर प्रिंट कर दे… या हो सकता है robots की एक टीम दिन-रात काम करके २-३ दिन में ही आपका घर तैयार कर दे.
5.Driver⇨ चाहे वो कार का हो या बस-ट्रक का उसकी जॉब AI ले लेगा.
Elon Musk की कम्पनी Tesla already ऐसी इलेक्ट्रिक कारें बेच रही है जो self-driven हैं. और आने वाले सालों में ये टेक्नोलॉजी इतनी मैच्योर हो जायेगी कि इसे बसों-ट्रकों में भी implement किया जा सकेगा.
और ऐसे होते ही Ola, Uber समेत तमाम कम्पनियाँ महंगे और थक जाने वाले ड्राइवर्स रखने की जगह कभी न थकने वाली automated cars, trucks और buses use करने लगेंगे. साथ ही अपना पर्सनल ड्राईवर रखने वाले लोग भी ऐसी ही गाड़ियों को प्रेफर करेंगे.
जर्मनी पहले ही ऐसी गाड़ियों को अप्प्रूव करने का इंटरेस्ट दिखा चुका है और दुनिया के सभी मेजर automobile manufacturers भी ऐसी ही इलेक्ट्रिक गाड़ियाँ बनाने में R&D कर रहे हैं जिन्हें कंप्यूटर लॉजिक और AI से चलाया जा सके, without any human intervention.
6.Travel agency⇨ पहले से ही, Oyo , Trivago, Make My Trip, Yatra और Booking.com जैसी संस्थाएं इस स्पेस में बहुत बड़े मार्केट कैप्चर कर चुकी हैं, और लाखों लोग इनही पे होटल बुक कर रहे हैं। ट्रेन और फ्लाइट बुकिंग के लिए भी आप किसी पर निर्भर नहीं हैं।
यानी निकट भविष्य में पारंपरिक ट्रैवल एजेंटों की कोई जरूरत नहीं है।
7.Telemarketer⇨ यानी फ़ोन पे कॉल कर के आपको कोई चीज बेचने का प्रयास करने वाले individuals. इनका रोल भी अब बहुत दिनों तक नहीं रहने वाला.
आपको पता चले न चले Facebook, Google जैसी कम्पनियाँ cookies के जरिये आपकी ऑनलाइन एक्टिविटीज को करीब से देखती हैं और उनका algorithm आपको कस्टमर्स के एक ख़ास केटेगरी में डाल देता है.
और इसी डाटा के मदद से कम्पनीज अब Online और video marketing के जरिये कहीं बेहतर और सटीक तरीके से अपने prospects को attract कर पा रही हैं.
8.Software Taste⇨ परीक्षण की जॉब का फ्यूचर भी खतरे में है।
मशीन लर्निंग (AI की एक ब्रांच) की मदद से सॉफ्टवेर टेस्टिंग का काम भी इंसानों से छीन सकता है। धीरे-धीरे हम ऐसे सिनेरियो की तरफ मूव कर रहे हैं जहाँ मशीन टेस्ट केसेस लिखने और एक्सीक्यूट करने का काम खुद करने में सक्षम हो रहे हैं।
इसमें वक़्त अधिक लग सकता है और हो सकता है कि मैन्युअल परीक्षकों की डिमांड पूरी तरह से ख़त्म न हो पर एक बड़ा इम्पैक्ट पड़ना तो तय है।
9.Trainers and Teachers⇨ जो भी काम repetitive होता है, जैसे कि बार-बार एक ही चीज सिखाना या पढ़ना ऐसी जगहों पर एक अच्छा सा algo design कर के human intervention को काफी हद तक ख़त्म किया जा सकता है.  Already हम Insurance and Finance industry में trainers का role minimize होते हुए देख रहे हैं… उनकी जगह ऐप इनेबल्ड टैब्स और ने ले ली है. इस तरह स्कूलों में स्मार्ट क्लासेज और बच्चों के हाथों में मोबाइल ने टीचर्स की importance पर negative impact डाला है.
कौन जानता है भविष्य में Natural Language Programming की वजह से टीचर्स की जगह उनका virtual avatar पढाये या हो सकता है बच्चे कहें Siri ma’am Maths का test लेंगी और Alexa ma’am English पढ़ाएंगी.

इसी तरह का जानकारी पढ़ने के लिए आप createdairy.com पे बने रहे अगर आपको हमारे पोस्ट की नोटिफेक्शन चाहिए तो निचे आपने ईमेल डाल के createdairy.com को फॉलो करे धन्यवाद !

ALSO READ ↴
Previous articleindia ke bare me kuchh anokhe gyan
Next articleAgr mobile chalti train se bahar gir jaye to waps kaise paye
नमस्कार दोस्तों, आप सभी का बहुत-बहुत स्वागत है. मै शेखर शर्मा इस ब्लॉग का फाउंडर हूँ. वैसे मै अभी इंजीनियरिंग का कोर्स कर रहा हूँ. ब्लोगिंग करना मेरा पैशन है और मुझे लोगों को हेल्प करने में अच्छा लगता है. मुझे नई-नई चीजें सीखना और लोगों को सिखाने का बहुत शौख है....धन्यवाद....

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here